यूपी के सीएम योगी को सुनील मौर्या का खुला खत

खुला पत्र

प्रति,
मुख्यमंत्री
उत्तर प्रदेश, भारत
विषय- विधिक राय के नाम पर UPSSSC आयोग के गठन का वादा न निभाने के विरोध स्वरुप.
महोदय,
आपको ज्ञात ही है कि उ.प्र.अधिनस्थ सेवा चयन आयोग का गठन अभी तक पूरा नहीं हो पाया. आपकी पूर्ण बहुमत की सरकार है और आप उसके मुखिया हैं. आपने स्वयं प्रदेश के सभी युवाओं से वादा किया था कि सरकार गठन के 90 दिन के अंदर सभी रिक्त पदों को भर दिया जायेगा और आयोग में व्याप्त भ्रष्टाचार पर रोक लग जायेगी तथा दोषियों को दण्डित किया जायेगा.
सरकार बनने के 10वें महीने में भी उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग, माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड व अधिनस्थ सेवा चयन आयोग का गठन तक अभी नहीं किया गया. यूपीएसएसएससी से जुड़े दर्जनों छात्रों ने आपकी पहली कैबिनेट मीटिंग के पूर्व जीपीओ, लखनऊ में प्रदर्शन किया. आपको मांगपत्र दिया गया और वार्ता हुई. उस दौरान आपने भ्रष्टाचार में लिप्त अध्यक्ष व सदस्यों के बजाय नये अध्यक्ष व सदस्य की नियुक्ति करके शीघ्र भर्ती प्रक्रिया शुरु करने का आश्वासन दिया. इसके बाद तो छात्रों ने अध्यक्ष व सदस्यों के इस्तीफे की मांग पर भी धरना दिया और वे लोग इस्तीफा भी दे दिये. इन सबके बावजूद अायोग का गठन नहीं हो सका, जिससे जूनियर असिस्टेंट का इंटरव्यू दे चुके छात्रों का अंतिम परिणाम, ग्राम पंचायत अधिकारी का अधूरा रह गया इंटरव्यू व कामर्शियल विभाग की भर्ती का इंतजार लंबा होता जा रहा है. बार- बार छात्रों के धरना प्रदर्शन के बावजूद छात्रों को आश्वासन से ज्यादा कुछ हाशिल नहीं हुआ. कुछ दिन पहले एक टी.वी. डिबेट के दौरान आपके प्रवक्ता मा. चंद्रमोहन जी व इलाहाबाद में रोजगार अधिकार आंदोलन के दौरान 26दिसंबर को एडीएम महोदय ने भी वादा किया था कि 31दिसंबर तक आयोग का गठन अवश्य हो जायेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.अब विधिक राय के नाम पर बहाना बनाया जा रहा है, जो ठीक नहीं है. 04जनवरी तक गठन नहीं हुआ तो छात्र 05जनवरी को प्रदर्शन के लिए बाध्य होंगे. जिसकी जिम्मेदार सरकार होगी. सरकार द्वारा दिये गये आश्वासनों व किये गये वादों को पूरा न करने से छात्रों में व्यापक आक्रोश व्याप्त हो गया है.
अत: आपसे अपील है कि शीघ्र आयोग का गठन करके बंद प्रक्रिया को तत्काल शुरु किया जाय. इसके पहले भी प्रदर्शन के दौरान आपकी पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज किया है. छात्र पुलिस की लाठी से डरने वाले नहीं है. छात्रों के भविष्य को अंधकार में ढकेलना बंद कीजिए अन्यथा हमारे भविष्य की बर्वादी, सरकार की भविष्य बर्वादी का कारण बन जायेंगी.
नफरत नहीं, रोजगार का अधिकार दो!
द्वारा जारी
सुनील मौर्य
प्रदेश सचिव, आइसा
08115766703

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *